ब्रेकिंग न्यूज़
  • एन एच-24 के चौड़ीकरण का काम अभी तक भी शुरू नहीं हुआ है, मोदी जी| 2014 के संसदीय चुनावों के कुछ समय बाद ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली की गाजीपुर मंडी के सामने से होकर जान वाले नेशनल हाईवे (NH-24) को चौड़ा करने के कार्यक्रम का शिलान्यास किया था तथा घोषणा भी की थी कि यह काम यू.पी. चुनावों से पहले ही पूरा कर दिया जाएगा|
  • आम जनता में भय का वातावरण बना हुआ है| राजा व प्रजा का सम्बन्ध पिता व पुत्र जैसा होना चाहिए- किन्तु देश में इस समय ऐसा बिलकुल भी नहीं है| आम आदमी मोदी जी के नाम से काफी डरता है| आदर्श पंचायती राज के जनवरी 2017 के अंक में राजस्थान के जोगी गणेश नाथ ने बताया था कि राजस्थान के गांवों से पशुचोर व गौ-तस्कर किस प्रकार से गायों को सरेआम उठा कर ले जाते हैं|
  • गंगा की सफाई के नाम पर हजारों करोड़ डकारे जा रहे हैं, प्रधानमंत्री जी| वर्ष 2014 के संसदीय चुनावों के समय मोदी जी ने वाराणसी से चुनावी पर्चा भर कर जब देश के लोगों को बताया था कि उन्हें माँ गंगा ने वहाँ बुलाया है, तो देश के करोड़ों हिन्दुओं को लगा था कि अब जरुर माँ गंगे के दिन बहुर जाएँगे|
  • मरे ही तो एक सौ से ज्यादा हैं पर हजारों से भी ज्यादा तो अधमरे कर दिए हैं, मोदी जी की इस नोटबंदी ने| नोटबंदी के बाद मोदी जी ने टेलीविजन पर आकर कहा था कि नोटबंदी की परेशानी सिर्फ 50 दिनों तक झेलनी पड़ेगी, इसके बाद आम आदमी को कोई भी परेशानी नहीं होगी- नोटबंदी के बाद पचास दिनों के दौरान ही देशभर में 100 से अधिक लोगों की तो मौत के समाचार सुनने को मिल गए और अब सौ-सवा सौ दिनों के बाद तो हालात और भी बदतर नजर आने लगे हैं|
  • मोदी जी की नोटबंदी ने लोगों के प्रेमभाव को भी ख़तम कर दिया है| हमारे देश के गाँवों के परिवारों में प्रेम व भाई-चारा जो कई-कई पीढ़ियों से चला आ रहा था वह भी मोदी जी ने एक ही झटके में तोड़ दिया है| मोदी जी द्वारा 8 नवम्बर 2016 की शाम अचानक नोटबंदी की घोषणा के बाद कई परिवारों के सामने मुसीबत खड़ी हो गई थी| ग्रामीण क्षेत्र के किसान भाई अधिकतर लेन-देन कैश में ही करते हैं, गेंहूँ की बुआई सिर पर थी-इसीलिए सभी ने बीज व खाद के लिए पैसों का इंतजाम भी कर रखा था| इसके अलावा छोटे-छोटे काम धन्धे वालों को भी कच्चा माल व मजदूरों को पेमेंट कैश में ही करनी पड़ती है|

धर्म

भक्ति सुतंत्र सकल सुख खानी....

  Intellegat quaerendum suscipiantur est epicurei delicata

श्रीरामचरितमानस में आता हैः भक्ति सुतंत्र सकल सुख खानी। बिनु सतसंग न पावहिं प्रानी।। यदि तुम विदेश जाना चाहो तो तुम्हारे पास पासपोर्ट होगा तब वीजा मिलेगा। वीजा होगा तब टिकट मिलेगी। फिर तुम हवाई जहाज में बैठकर अमेरिका जा सकोगे। यदि नौकरी चाहिए तो प्रमाणपत्रों की जरूरत पड़ेगी। अगर व्यापार करना हो तब भी धन की जरूरत पड़ेगी। किंतु भक्ति में ऐसा नहीं है कि तुम इतनी योग्यता प्राप्त करो तब भक्ति कर सकोगे.

पढ़ें पूर्ण अनुच्छेद

नीम का पेड़ चला

  Intellegat quaerendum suscipiantur est epicurei delicata

हमारे सद्गुरुदेव पूज्यपाद श्री लीलाशाह जी महाराज के जीवन की एक घटना बताता हूँ, सिंध में उन दिनों किसी जमीन के बारे में हिन्दू और मुसलमानों में झगड़ा चल रहा था। उस जमीन पर नीम का एक पेड़ खड़ा था, जिससे उस जमीन की सीमा-निर्धारण के बारे से कुछ विवाद था। हिन्दू और मुसलमान कोर्ट-कचहरी में धक्के खा-खाकर थक गये। आखिर दोनों पक्षों ने यह तय किया कि यह धार्मिक स्थान है। दोनों पक्षों में से जिस पक्ष का कोई पीर-फकीर इस स्थान पर अपना कोई विशेष तेजए बल या चमत्कार दिखा देए यह जमीन उसी पक्ष की हो जायेगी।

पढ़ें पूर्ण अनुच्छेद

आपका जीवन हो ज्ञानसंयुक्त

  Intellegat quaerendum suscipiantur est epicurei delicata

मैंने सुनी है कहानी कि एक लंगड़ा आदमी बद्रीनाथ के रास्ते पर बैठा था और कहे जा रहा था कि 'लोग यात्रा करने को जा रहे हैं। हमारे पास पैर होते तो हम भी भगवान के दर्शन करते।' पास में एक साथी बैठा था। वह सूरदास था। उसने कहा: यार ! मैं भी चाहता था ईश्वर के दर्शन करूँ लेकिन मेरे पास आँखों की ज्योति नहीं है। कम-से-कम ईश्वर के धाम में जाने की मेरी रुचि तो है लेकिन आँखें नहीं हैं...

पढ़ें पूर्ण अनुच्छेद

गौपालक और गौप्रेमी धन्य हो जाएंगे... ध्यान दो ।

  Intellegat quaerendum suscipiantur est epicurei delicata

देशवासियों व सरकार के नाम पूज्य संत श्री आशारामजी बापूजी का राष्ट्र-हितकारी सन्देश| गोझरण अर्क बनानेवाली संस्थाएँ एवं जो लोग गौमूत्र से फिनायल व खेतों के लिए जंतुनाशक दवाईयाँ बनाते हैं, वे लोग 8 रु. प्रती लीटर गौमूत्र ले जाते हैं| गौअर्क बनाने वाली संस्थाये भी 8 रु. प्रति ली. गौमूत्र ले जाती हैं| गाय 24 घंटे में (रात-दिन) 7 ली. मूत्र गाय देती है| तो 56 रु. उसके मूत्र से ही उसका खर्चा आराम से चल सकता है| गाय के गोबर, दूध और उसकी उपस्थिति का फायदा देश वासियों को मिलेगा ही|

पढ़ें पूर्ण अनुच्छेद

मनुष्य-जन्म का मूल्य

  Intellegat quaerendum suscipiantur est epicurei delicata

येषां त्वन्तगतं पापं जनानां पुण्यकर्मणाम्। ते द्वन्द्वमोहनिर्मुक्ता भजन्ते मां दृढव्रतारू।। निष्कामभाव से श्रेष्ठ कर्मों का आचरण करनेवाले जिन पुरुषों का पाप नष्ट हो गया हैए वे राग.द्वेषजनित द्वन्द्ररूप मोह से मुक्त दूढ़निश्चयी भक्त मुझको सब प्रकार से भजते हैं।' (गीता-7.28)

पढ़ें पूर्ण अनुच्छेद

स्वामी विवेकानंद ने धर्म की नई परिभाषा दी

  Intellegat quaerendum suscipiantur est epicurei delicata

ानव तस्करी के बेहिसाब आरोपों के बावजूद अजीबोगरीब कानून और नेताओं की सरपरस्ती में कोलकाता में डांस बार का धंधा धड़ल्ले से जारी और शौकीनों के लिए अपनी शामें रंगीन करने का बहाना बना.

पढ़ें पूर्ण अनुच्छेद

कैसे हो देश का उत्थान

  Intellegat quaerendum suscipiantur est epicurei delicata

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर के देहात थाना क्षेत्र के देवरिया मुबारकपुर गांव से बीती रात चोरों ने करीब 140 वर्ष पुराने मंदिर से अष्टधातु की सात मूर्तियां पार कर दीं। इन मूर्तियों का वजन करीब ढाई क्विंटल और बाजार में इनकी कीमत करोड़ों रुपये बताई जा रही है।

पढ़ें पूर्ण अनुच्छेद

गौतम बुद्ध की शुक्ष्म नजर

  Intellegat quaerendum suscipiantur est epicurei delicata

ानव तस्करी के बेहिसाब आरोपों के बावजूद अजीबोगरीब कानून और नेताओं की सरपरस्ती में कोलकाता में डांस बार का धंधा धड़ल्ले से जारी और शौकीनों के लिए अपनी शामें रंगीन करने का बहाना बना.

पढ़ें पूर्ण अनुच्छेद

एक यथार्त- हमारे और आप की जीवन मे हर पल घटित ह

  Intellegat quaerendum suscipiantur est epicurei delicata

ानव तस्करी के बेहिसाब आरोपों के बावजूद अजीबोगरीब कानून और नेताओं की सरपरस्ती में कोलकाता में डांस बार का धंधा धड़ल्ले से जारी और शौकीनों के लिए अपनी शामें रंगीन करने का बहाना बना.

पढ़ें पूर्ण अनुच्छेद

यूपी : 140 साल पुराने मंदिर से करोड़ों की मूर्त

  Intellegat quaerendum suscipiantur est epicurei delicata

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर के देहात थाना क्षेत्र के देवरिया मुबारकपुर गांव से बीती रात चोरों ने करीब 140 वर्ष पुराने मंदिर से अष्टधातु की सात मूर्तियां पार कर दीं। इन मूर्तियों का वजन करीब ढाई क्विंटल और बाजार में इनकी कीमत करोड़ों रुपये बताई जा रही है।

पढ़ें पूर्ण अनुच्छेद


Please Enter your User Name & Password

Forgot Password?

Forget Password